Chh. Shivaji Maharaj Family Tree (Bhosale Gharana)

689
छत्रपति शिवाजी महाराज के पूर्वज

छत्रपति शिवाजी महाराज के पूर्वज

हम छत्रपति शिवाजी महाराज के पूर्वज बाबाजी राजे भोसले से उदयनराजे भोसले तक सभी के बारेमे थोड़ीसी जानकारी देंगे।

‌बाबाजी भोसले जिनका जनम 1549 में हुआ, जिनको 2 बेटे थे मालोजी भोसले और विठोजी भोसले।‌ मालोजी भोसले का जनम 1570 में हुआ , उनकी दूसरी पत्नी उमाबाई निम्बालकर को 2 बेटे हुए शहाजी और शरीफजी।‌ शहाजी महाराज भोसले का जनम 1594 में हुआ और शरीफजी का जनम 1596 में हुआ, शहाजी को 3 पत्निया थी जीजाबाई, तुकाबाई, और नरसाबाई।

Rajmata Jijabai
‌‌जीजाबाई

‌‌जीजाबाई जिनको आउसाहेब बोला जाता है उनको 2 बेटे थे जिनका नाम सम्भाजी और शिवाजी था। तुकाबाई के 2 बेटों का नाम एकोजी और कोयाजी था और नरसाबाई के बेटे का नाम संताजी था।

‌शिवाजी महाराज का जनम 1630 को हुआ और उनको 2 बेटे थे, उनका नाम सम्भाजी और राजाराम था।‌ सम्भाजी महाराज का जनम 1657 को हुआ और राजराम महाराज का जनम 1670 को हुआ।‌यहा पे मराठा साम्राज्य भोसले वंशज कोल्हापुर और सतारा में रहने लगे, क्योंकि सम्भाजी महाराज शिवाजी महाराज के बड़े बेटे थे इसलिए हम उनका वंशज आगे बताएंगे।

‌‌सम्भाजी महाराज को 1 बेटा था उनका नाम शाहू था,शाहू महाराज का जनम 1682 को हुआ। उन्होंने दूसरे राजाराम यानि कि रामराजा को गोद लिया। रामराजा का जनम 1726 में हुआ।

Dusare Shahu Maharaj Bhosale
‌‌दूसरे शाहू महाराज भोसले

‌‌दूसरे शाहू महाराज भोसले का जनम 1763 में हुआ उनके बेटे का नाम प्रतापसिंग रखा गया।‌ प्रतापसिंह महाराज भोसले का जनम 1793 में हुआ उन्होंने दूसरे शहाजी को गोद लिया। दूसरे शहाजी का जनम 1802 में हुआ उन्होंने 1839 से 1848 तक राजगद्दी संभाली जिन्हें अप्पाजी भी कहा जाता है।

Pratap Signh Bhosale
प्रतापसिंग राजे भोसले

‌‌उनके बाद प्रतापसिंग राजे भोसले 1865 से 1874 तक छत्रपति बने। उनके बाद तीसरे राजराम महाराज भोसले ने 1874 से 1904 तक राजगद्दी संभाली।

‌‌फिर दूसरे प्रतापसिंह महाराज भोसले 1714 से 1725 तक छत्रापति बने रहे। तीसरे शाहू महाराज भोसले 1925 से 1960 तक छत्रापति रहे।‌ तीसरे प्रतापसिंग राजे भोसले 1960 से 1978 तक छत्रपति बने रहे।

‌उदयनराजे भोसले जो अभी भी 1978 से लेकर अब तक यानिकि 2019 तक छत्रापति है।

‌राजर्षि शाहू महाराज कोल्हापुर के भोसले घराने में है।

Rajarshi Shahu Maharaj
राजर्षि शाहू महाराज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here